पंजाबी दशहरा: श्री राम का तीर चलते ही धू-धू कर जल उठा 55 फीट का रावण

पंजाबी दशहरा: श्री राम का तीर चलते ही धू-धू कर जल उठा 55 फीट का रावण

जबलपुर ।  ग्वारीघाट स्थित आयुर्वेदिक कॉलेज के ग्राउंड पर सोमवार की शाम जैसे ही श्री राम का तीर रावण के 55 फीट के पुतले पर जा घुसा, वैसे ही वह धू-धू कर जलने लगा। पंजाबी दशहरा ग्राउंड शानदार रंग बिरंगी आतिशबाजी से दमक उठा था। 69वें समारोह में हजारों की तादाद में लोग पहुंचे थे। उधर नौवीं की पूरा रात भक्तों का सैलाब सड़कों पर दर्शन के लिए घूमता रहा। मंगलवार की शाम मुख्य चल समारोह ब्लूम चौक शास्त्री ब्रिज से रवाना होगा। पंजाबी हिन्दू एसोसिएशन के तत्वावधान में हुए भव्य आयोजन के साक्षी हजारों नगर वासी बने। इस अवसर पर मंच पर जगदगुरू महामंडलेश्वर डॉ. श्याम देवाचार्य के आर्शीवचन के साथ आयोजन की शुरूआत हुई। उन्होंने कहा कि समाज में लोग स्वार्थ पूर्ति के लिए किसी भी हद तक चले जाते हैं। ऐसे लोग ही रावण के प्रतीक हैं। हमें इस प्रवृत्ति को मिटाना होगा। मंच पर मुख्य अतिथि रहे मप्र शासन के वित्त मंत्री तरुण भनोट तथा विशिष्ट अतिथि महापौर डॉ स्वाती सदानंद गोडबोले रहीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व मंत्री चंद्र कुमार भनोट ने की।

भीड़ ने पैदल चलने किया मजबूर

नवमी पर नवरात्र के आखिरी दिन शाम ढलते से लेकर अल सुबह तक सड़कों पर आस्था और भक्ति का सैलाब नजर आया। शहर के हर हिस्से में विराजित एक से बढ़कर एक झांकियों के दर्शन करने लोग परिवार सहित निकले,अंतर केवल यह रहा कि नामचीन झांकियों के पास तक कोई वाहन नहीं पहुंच पाया और लोगों को जहां पुलिस ने रोका वहीं अपने वाहन खड़े कर पैदल झांकी व देवी दर्शन को पहुंचे। इस व्यवस्था से लोगों को राहत भी मिली और कम समय में बिना परेशानी के झांकियों के दर्शन मिले। यह नजारा फुहारा, कोतवाली,गढ़ा फाटक,सदर में देखा गया।

जवारा विसर्जन जुलूस निकले

उपनगरीय क्षेत्रों में जवारों के जुलूस निकले। गाल में बाने लगाकर लोग जुलूस का नेतृत्व कर रहे थे। माता के भाव में झूमती जवारे सिर पर रखकर महिलाएं चल रही थीं। बैंड-बाजे के साथ जुलूस निकलते रहे। इनके कारण लोगों को आवाजाही में कुछ देर प्रतीक्षा भी करनी पड़ी या दूसरे उपमार्गों का सहारा लेना पड़ा। जवारा जुलूसों में पुलिस का इंतजाम नजर नहीं आया जिसके कारण जाम की स्थितियां भी बनीं।

कल निकलेगा उपनगरीय क्षेत्रों का चल समारोह

उपनगरीय क्षेत्र घमापुर, गढ़ा, गोकलपुर, अधारताल, गोरखपुर और गोराबाजार का दशहरा मुख्य चल समारोह 9 अक्टूबर मंगलवार को शाम 6.30 बजे शुरू होगा। वहीं 10 अक्टूबर की शाम को विजय नगर, महाराजपुर क्षेत्र का चल समारोह धूमधाम से निकाला जाएगा। जानकारी के अनुसार 9 को ही शाम को ग्रामीण अंचल पनागर, कटंगी, बेलखेड़ा, सिहोरा का भी जुलूस निकलेगा।