प्रियंका गांधी ने यूपी में की कांग्रेस की सर्जरी

प्रियंका गांधी ने यूपी में की कांग्रेस की सर्जरी

नई दिल्ली। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के सभी बड़े नेताओं के ग्रुप को मार्गदर्शक मंडल में शामिल किया गया है। इन सभी नेताओं को नई कांग्रेस कमेटी के सलाहकार परिषद के सदस्य बना दिए गए हैं। जिन्हें सलाहकार परिषद में रखा गया है, उनमें सलमान खुर्शीद, राशिद अल्वी, मोहसिन किदवई, पीएल पुनिया और आरपीएन सिंह का नाम है। ये सभी मनमोहन सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे हैं। वहीं कई सांसद और विधायक भी इस लिस्ट में हैं। यहां तक कि किसी एक विधानसभा क्षेत्र से लगातार जितने का रिकॉर्ड बनाने वाले प्रमोद तिवारी का नाम भी सूची में शामिल है, हालांकि उनकी विधायक बेटी आराधना मिश्रा मोना को कांग्रेस ने विधायक दल का नेता बना दिया है। वाराणसी से नरेंद्र मोदी से दो दो हाथ करने वाले अजय राय भी इसमें शामिल हैं, इसी तरह के कुल 18 बड़े नेताओं को सलाहकार परिषद में रखा गया है। यूपी के बाकी बड़े कांग्रेसी नेताओं को रणनीति बनाने छोड़ दिया गया है। इनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद, राजीव शुक्ला और प्रदीप जैन आदित्य के अलावा 8 लोगों की पूरी टीम में राज किशोर सिंह, आरके चौधरी, इमरान मसूद, राजाराम पाल और बृजलाल खाबरी शामिल हैं। 

बड़े आंदोलन की बनाई रणनीति

पहले से ये कयास लगाए जा रहे थे कि कांग्रेस की कमान नए और आंदोलकारी नेताओं के हाथों में सौंपने की तैयारी है। प्रियंका ने इसे कर दिखाया है, जिन 24 लोगों को सचिव बनाया गया है, इनमें से सभी लोग 35 से 40 साल तक कि उम्र के नौजवान और आंदोलनकारी नेता हैं। महासचिव और उपाध्यक्ष भी किसी बड़े चर्चित चेहरे को नहीं बनाया गया है। इसके पीछे कारण है, कांग्रेस जानती है कि उसे यूपी में भाजपा से लड़ने प्रदेश स्तर पर लगातार और बड़े आंदोलन करने होंगे। आज के समय में इस बड़े टास्क को सिर्फ नौजवान ही अंजाम दे सकते हैं और वो जिन्हें फेमस होने की भूख हो। कांग्रेस के दिग्गज नेताओं का कद इतना बड़ा हो गया है कि सड़क पर आंदोलन अब उनके सामने बौना हो गया है, इसलिए नई टीम बनाई गई है।