युवकों की तरह अब युवतियां भी देश की सीमाओं पर देंगी दस्तक

युवकों की तरह अब युवतियां भी देश की सीमाओं पर देंगी दस्तक

जबलपुर  ।  17 सितंबर से 22 सितंबर के बीच में मध्य भारत के बिहार, महाराष्ट्र, गोवा, मध्यप्रदेश, गुजरात, झारखंड की करीब 1700 युवतियां जबलपुर शहर भाग्य आजमाने आएंगीं। अब युवकों की तरह युवतियां भी देश की सीमाओं में प्रहरी बनेंगी। जिसके लिए भारतीय थल सेना इनकी भर्ती प्रक्रिया करने जा रही है। 17 से 22 सितंबर तक चलने वाली भर्ती प्रक्रिया में करीब 1700 युवतियां आपस में कॉम्पीटिशन करेंगी। जम्मू और काश्मीर रायफल्स के तहत यह भर्ती प्रक्रिया आयोजित होनी है। जानकारी के अनुसार यह भर्ती प्रक्रिया पूरे देश के 5 अलग-अलग जगहों पर आयोजित की जाने वाली है। जिसमें देश भर की करीब 2.50 लाख युवतियों ने आवेदन दिया है। डायरेक्टर मुख्यालय भर्ती जोन जबलपुर कर्नल पी चक्रवर्ती के अनुसार सेना ने कक्षा 10वीं के मेरिट के अनुसार करीब 10 हजार बच्चियों का सिलेक्शन भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने के लिए किया है। जिनका कक्षा 10वीं में 86 प्रतिशत से उपर है उन्हीं का चयन भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने के लिए किया गया है। जबलपुर शहर में करीब 1700 बच्चियां महिला सिपाही भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने के लिए आ रहीं हैं।

कुछ इस तरह चलेगी प्रक्रिया

जानकारी के अनुसार जैक रेजीमेंटल सदर बाजार के पीछे भर्ती प्रक्रिया आयोजित होनी है। 1700 युवतियों के चयन प्रक्रिया में 17- 19 सितंबर को ग्राउंड टेस्ट लिया जाएगा। जो इसमें पास होगा उन बच्चियों का 19- 20-21 सितंबर को मेडीकल टेस्ट होगा। इसके बाद बची चयनित युवतियों को अक्टूबर एंड में रिटेन टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा। जो युवतियां रिटेन टेस्ट निकाल लेंगी उन्हें दिसंबर माह में आर्मी ज्वाइन करने भेज दिया जाएगा। इन फाइनल महिला सिपाहियों की फिर जनवरी में बैंगलोर में ट्रेनिंग शुरू कर दी जाएगी। विदित हो कि थल सेना के इतिहास में यह पहला मौका है जब अधिकारी रैंक से नीचे महिला सिपाहियों की भर्ती प्रक्रिया हो रही है।